comscore
29 Jan, 2024 | Monday
ट्रेंडिंग : Auto NewsBest Recharge PlaniPhone 15Social Media AddictionChandrayaan 3

चांद के बाद अब सूरज की बारी, कैसा होगा ISRO का Aditya L1 मिशन?

ISRO ने चांद के बाद अब सूरज पर जाने की तैयारी कर ली है। चांद की सतह पर सफलतापूर्वक उतरने के बाद इसरो अगले महीने की पहले सप्ताह Aditya L1 मिशन लॉन्च करना है। इसरो के डायरेक्टर एस सोमनाथ ने यह कंफर्म किया है।

Edited By: Harshit Harsh

Published: Aug 24, 2023, 06:44 PM IST | Updated: Aug 28, 2023, 03:37 PM IST

Aditya-L1-mission
Aditya-L1-mission

Story Highlights

  • ISRO चंद्रयान-3 की सफलता के बाद नए मिशन की तैयारी में है।
  • अगले महीने 2 सितंबर को इसरो आदित्य L1 सूर्य मिशन को लॉन्च करेगा।
  • यह एक ऑब्जर्बेटरी मिशन होगा, जो सूर्य के पास जाकर सोलर सिस्टम का अध्ययन करेगा।

Chandrayaan 3 की सफल लैंडिंग के बाद ISRO की नजर अब सूर्य की तरफ है। इसरो जल्द ही Aditya-L1 मिशन लॉन्च करने वाला है। भारतीय स्पेस एजेंसी का यह पहला सूर्य मिशन होगा। पिछले दिनों ISRO ने आदित्य एल-1 की कुछ तस्वीरें और जानकारियां भी शेयर की हैं। इसरो का यह मिशन अगले महीने 2 सितंबर को लॉन्च होगा। इसे सूर्य और धरती के सोलर सिस्टम के लाग्रेंज प्वाइंट (Lagrange point) 1 पर भेजा जाएगा। चंद्रयान-1 की तरह ही यह एक ऑब्जर्वेटरी मिशन होगा, जिसमें ऑर्बिटर होगा। यह सूर्य के नजदीकी वातावरण का अध्ययन करेगा।

क्या है लाग्रेंज प्वाइंट (Lagrange point)?

सूर्य और धरती के बीच अतंरिक्ष में यह एक ऐसी जगह है जहां अंतरिक्षयान और अन्य ऑब्जेक्ट ठहरते हैं। इसका मतलब है कि स्पेसक्राफ्ट में ईंधन की खपत कम हो जाती है। यही कारण है कि इसरो के सूर्य मिशन यानी Aditya-L1 को यहां भेजा जाएगा। यह सूर्य और धरती के बीच बनी रेखा के आस-पास लंबे समय तक रहकर स्टडी कर सकेगा।

यह एक ऐसा प्वाइंट है, जहां से सूर्य को बिना किसी रुकावट के देखा जा सकता है। यह एक हालो ऑर्बिट है, इसलिए आदित्य ने इस प्वाइंट को मिशन पूरा करने के लिए चुना है। इसरो का मानना है कि इस जगह से आदित्य L1 को सोलर एक्टिविटीज की जानकारियां मिलती रहेगी, जो किसी अन्य जगह से नहीं पिल पाई है।

मिलेंगे 7 पेलोड्स

ISRO के मुताबिक, Aditya L1 में 7 पेलोड्स लगे होंगे, जो सूर्य के वातावरण की जानकारी इकट्ठा करेंगे।

  1. विजिबल इमीशन लाइन क्रोनोग्राफ (VELC)
  2. सोलर अल्ट्रावायलेट इमेजिंग टेलीस्कोप (SUIT)
  3. सोलर लो एनर्जी एक्स रे स्पेक्ट्रोमीटर (SoLEXS)
  4. हाई एनर्जी L1 ऑर्बिट एक्स-रे स्पेक्ट्रोमीटर (HEL1OS)
  5. आदित्य सोलर विंड पार्टिकल एक्सपेरिमेंट (ASPEX)
  6. प्लाज्मा एनालाइजर पैकेज फॉर आदित्य (PAPA)
  7. एडवांस ट्राई-एक्सिअल आई रेजलूशन डिजिटल मेग्नोमीटर्स

इसका विजिबल इमिशन लाइन क्रोनोग्राफ पेलोड कोरोना/इमेजिंग और स्पेक्ट्रोस्कोपी करने में सक्षम है। वहीं, इसके अन्य पेलोड्स फोटोस्फेयर और क्रोमोस्फेयर इमेजिंग, सॉफ्ट एक्स-रे, हार्ड एक्स-रे, सोलर विंड पार्टिकल एनालाइजिंग, मैग्नेटिक फील्ड आदि की जानकारियां कलेक्ट कर सकेंगे।

टेक्नोलॉजी और ऑटोमोबाइल की लेटेस्ट खबरों के लिए आप हमें व्हाट्सऐप चैनल, फेसबुक, यूट्यूब और X, पर फॉलो करें।

Author Name | Harshit Harsh

STAY UPDATED WITH OUR NEWSLETTER

Select Language